14 अप्रैल 2022 (क्रिप्टो न्यूज़ हिन्दी)

क्रिप्टो क्षेत्र को ले कर भारत सरकार का नज़रिया अब बिलकुल साफ है। सरकार क्रिप्टो पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगा कर विश्व स्तर पर आलोचना का पात्र नहीं बनना चाहती है इस लिए पूरी तरह से सोच विचार कर सरकार ने अपनी ताकत का इस्तेमाल अलग तरीके से किया है। जहां पर पहले क्रिप्टो समुदाय “इंडिया वांट्स क्रिप्टो” कह रहा था अब वह क्रिप्टो टैक्स कम करने की बात कर रहा है। अब कोई इस बात को नहीं उठा रहा की भारत में क्रिप्टो को कानूनी मान्यता मिलनी चाहिए। अभी सबका ध्यान सरकार ने सिर्फ टैक्स तक सीमित कर दिया है।

क्रिप्टो पर टैक्स भी कोई छोटा नहीं बल्कि सबसे ज्यादा लगाया है। मुनाफे पर 30% टैक्स से शायद लोग इतना परेशान नहीं हैं जितनी परेशानी 1% टीडीएस और सबसे बड़ी समस्या नुकसान होने पर इसका फायदा टैक्स में न मिलने से है। यह सारी समस्याएँ अभी चल ही रही थी कि अब UPI पेमेंट सिस्टम ने क्रिप्टो एक्सचेंज पर पैसा डिपॉज़िट करने के लिए अपने प्लेटफार्म का इस्तेमाल करने से मना कर दिया है।

क्रिप्टो एक्सचेंजस पर अगर ट्रेड करना है तो इसके लिए अपने एकाउंट से पैसे को एक्सचेंज पर ले जाना जरुरी है और अगर पैसा एक्सचेंज पर नहीं जाएगा तो क्रिप्टो ट्रेड नहीं हो पाएगी। पिछले दो हफ्तों से क्रिप्टो एक्सचेंजस पर जो ट्रेड वॉल्यूम गिरा है, उसका कारण लोगों में 30% का डर नहीं बल्कि UPI सुविधा न मिलना है। सरकार ने क्रिप्टो लेनदेन पर कोई पाबंधी नहीं लगाई है फिर किस कारण से UPI वाले यह कर रहे हैं इसका जवाब कोई नहीं दे रहा ?

सरकार का क्रिप्टो से टैक्स लेने का कोई इरादा नहीं है बल्कि सरकार ऐसा चाहती है कि क्रिप्टो क्षेत्र ही खत्म हो जाए। सरकार के इस काले कानून के बाद अब क्रिप्टो बाजार में स्कैम होने शुरू होंगे और निवेशक लुटेगा। जब एक्सचेंज से क्रिप्टो नहीं मिलेगी तो निवेशक बाहर से क्रिप्टो लेने का प्रयास करेंगे और सही कीमत से ज्यादा कीमत पर क्रिप्टो खरीदेंगे और बेचते समय उन्हें कीमत कम मिलेगी। पहले भी ऐसा बहुत ज्यादा देखा गया था कि निवेशक से पैसा लेने के बाद उसको क्रिप्टो नहीं दी गई। इस बारे में पुलिस को शिकायत भी नहीं हो सकेगी, क्योंकि सरकार के इस कानून से लोग वैसे ही डरे हुए हैं।

एक्सचेंज की सबसे ज्यादा कमाई होती है रोज़ाना ट्रेड होने वाली क्रिप्टो से, लेकिन जब पैसा ही एक्सचेंज पर नहीं जाएगा तो ट्रेड नहीं होगी और ट्रेड नहीं होगी तो एक्सचेंज की कमाई नहीं होगी और कमाई नहीं होगी तो एक्सचेंज जल्द ही बंद भी हो सकती हैं। सरकार को यह सोचना चाहिए की अगर टैक्स लेना है तो धंधा भी तो होना चाहिए ? हम भारत में धीरे-धीरे क्रिप्टो को मरते हुए देख रहे हैं और यह बहुत दुःख देने वाली बात है कि जिस क्षेत्र में भारत दुनिया के सभी देशो से ज्यादा आगे है, उसी देश में क्रिप्टो खत्म हो रही है।

क्रिप्टो स्टार्टअप बंद होंगे, नौकरियां चली जाएंगी और साथ ही जो क्रिप्टो में काम कर रहे हैं वह अपना सारा काम विदेशों में ले जाएंगे। एक आम इंसान जिसे क्रिप्टो में अपने भविष्य की उम्मीद दिख रही थी वह भविष्य अब अंधकार में है। लाखों लोग बर्बाद हो जाएंगे और पिछले पांच वर्षो से अधिक समय से जो कुछ भी क्रिप्टो समुदाय ने पढ़ा और समझा है, वह सारा हुनर अब किसी काम का नहीं रहेगा।

यह कैसी सरकार है जो अपने ही देश के लोगों की रोज़ी रोटी छीन रही है और क्रिप्टो क्षेत्र को बर्बाद कर रही है ?

Visit us – www.cryptonewshindi.com

follow us on Twitter – https://twitter.com/cryptonewshindi?s=08

Follow us on Telegram – https://t.me/CryptoNewsHindi7i

Mail us – cryptonewshindi7@gmail.com

#bitcoin #cryptonewshindi #cryptotx