07 जुलाई 2022 गुरुवार (क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी)

इस वर्ष क्रिप्टो पर सरकार ने जब टैक्स लगाने का कानून बनाया तो क्रिप्टो क्षेत्र से काफी मिलाजुला रिस्पांस देखने को मिला। ज्यादातर लोग 30% टैक्स और 1% टीडीएस को सही नहीं मानते थे। क्रिप्टो कमाई पर 30% टैक्स 1 अप्रैल 2022 से शुरू हो चूका है और ट्रेड पर 1% टीडीएस 1 जुलाई से शुरू हो चूका है। कमाई पर टैक्स निवेशकों को खुद देना होगा जबकि टीडीएस एक्सचेंज द्वारा काटा जाएगा और इन्ही के द्वारा जमा भी करवाया जाएगा। भारतीय रूपये से क्रिप्टो खरीदने पर टैक्स बेचने वाले को देना होगा लेकिन क्रिप्टो से क्रिप्टो ट्रेड करने पर टैक्स दोनों को ही देना होगा यानि 1% बेचने वाला और 1% खरीदार। यह जानकारी वज़ीरएक्स ने अपने एक ब्लॉग में दी थी।

कुछ समाचार ऐसे सामने आ रहे हैं जहां पर बताया जा रहा है की ED डायरेक्टरेट ऑफ़ एनफोर्समेंट ने भारतीय क्रिप्टो एक्सचेंज CoinDCX और CoinSwitch से उनके काम के बारे में बहुत सारी जानकारी मांगी है। इसमें मुख्यतौर पर भारतीय एक्सचेंज से विदेश में क्रिप्टो को भेजने से सम्बंधित जाँच की जा रही है। यह जाँच विदेश एक्सचेंज प्रबंधन एक्ट (FEMA) के अंतर्गत की जा रही है और देखा जा रहा है कि कहीं एक्सचेंज द्वारा इस कानून का उन्लंघन तो नहीं किया जा रहा? क्रिप्टो एक्सचेंज को आगे कि जाँच के लिए नोटिस भी दिया गया है। फेमा के अंतर्गत देश से बाहर किसी को पेमेंट भेजने या किसी ट्रेड को करने के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं और जाँच एजेंसी यह देख रही है कि कहीं कोई गड़बड़ तो नहीं हैं ?

जब क्रिप्टो पर कानून बन रहा तो कई केंद्रीय एजेंसियो ने सरकार को क्रिप्टो के संभावित खतरों के बारे में बताया था। ET ने अपने एक आर्टिकल में यह जानकारी दी है कि इस केस में क्रिप्टो द्वारा E-Hawala कि भी जाँच हो रही है। यह हवाला दाऊद इब्राहिम की डी कंपनी द्वारा चलाया जा रहा है, ऐसी जानकारी मिली है। संभावना है कि किसी एक्सचेंज द्वारा ही इस काम को अंजाम दिया गया हो।

इस बारे में क्रिप्टो एक्सचेंज CoinDCX के सह संस्थापक सुमित गुप्ता ने एक यूट्यूब लाइव में कल अपना पक्ष सामने रखते हुए कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं। सुमित ने कहा है कि “हाल ही में क्रिप्टो पर सरकार द्वारा टैक्स लगाए गए हैं, जाँच एजेंसी यह जानना चाहती हैं कि एक्सचेंजस किस तरह से काम करती हैं ? कैसे पैसे को एक्सचेंज पर लाया जाता है और कैसे क्रिप्टो को ख़रीदा या ट्रेड किया जाता है ? सुमित ने बताया कि हमारी टीम जाँच एजेंसी के साथ मिल कर सहयोग कर रही हैं और उनके द्वारा मांगी जा रही सभी जानकारियों को उपलब्ध करवाया जा रहा है।”

क्या यहाँ पर ED इस बात कि जाँच कर रही है कि क्या क्रिप्टो एक्सचेंज से मनी लॉन्ड्रिंग के द्वारा पैसे को क्रिप्टो में बदल कर विदेश पैसा भेजा जा रहा है? कुछ समय पहले तक किसी भी क्रिप्टो एक्सचेंज से क्रिप्टो होल्डर अपनी क्रिप्टो को कहीं भी भेज सकता था और कहीं और से अपनी एक्सचेंज पर ला सकता था। सरकार द्वारा क्रिप्टो एक्सचेंजस से कई बार कुछ मीटिंग हुई है जहां पर एक्सचेंज से उनके काम करने के तरीके के बारे में पूछा गया था। क्योंकि अभी तक सरकार ने क्रिप्टो के बारे में कोई फ्रेमवर्क नहीं बनाया था तो एक्सचेंजस अपनी तरफ से अपने सभी ग्राहकों की KYC लेती थी। क्रिप्टो एक्सचेंजस की एक बहुत बड़ी समस्या यह है कि अगर कोई ग्राहक क्रिप्टो खरीदने के बाद उसे किसी वॉलेट या किसी विदेश की एक्सचेंज पर ले जाता है तो एक्सचेंज इस बात का पता नहीं लगा सकती कि जहां क्रिप्टो को भेजा गया है वह एड्रेस किसका है ? इसमें एक्सचेंज की तो कोई गलती नहीं है लेकिन जाँच एजेंसी को शक है कि क्रिप्टो के माध्यम से भारत से बड़ी रकम को विदेश भेजा गया है जो मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट का उन्लंघन है। इस बारे में सुमित का कहना है कि “CoinDCX पर 95% से अधिक ग्राहक अपनी क्रिप्टो को एक्सचेंज से बाहर नहीं ले जाते और जो 5% हैं वह अपने अकाउंट से क्रिप्टो को कहा ले जा रहे हैं, यह जानना किसी के लिए भी बहुत मुश्किल हैं। हमने काफी पहले से ही क्रिप्टो को विड्राल करने पर रोक लगाई हुई है लेकिन भारतीय रुपये को जमा करना और निकालने कि सुविधा पूरी तरह से काम कर रही है। इस महीने ट्रेड वॉल्यूम में गिरावट आई है और महीने के अंत में पता चलेगा कि एक्सचेंज पर कितना वॉल्यूम गिरा है ?”

सुमित गुप्ता ने जो सबसे बड़ी बात कही वह यह थी कि CoinDCX पर अभी 35% के करीब ट्रेड वॉल्यूम गिरा है और आने वाली महीनों में यह देखना होगा कि ट्रेड वॉल्यूम कितना और गिरता है ? अगर ट्रेड वॉल्यूम में बहुत ज्यादा गिरावट भी आ जाए तब भी एक्सचेंज की आर्थिक हालत इतनी मजबूत है कि अगले चार साल तक एक्सचेंज अच्छी तरीके से चलाया जा सकता है। एक्सचेंज पर निवेशकों का पैसा सुरक्षित है और हम बेहतर सेवा देने के लिए लगातार काम कर रहे हैं।

ED ने सुमित से क्या-क्या पूछा इस बारे में सुमित ने बहुत ज्यादा तो नहीं बताया क्योंकि वैसे भी यह जाँच चल रही है और ऐसे में सभी प्रश्नों के उत्तर सार्वजनिक करना सही नहीं होता। सरकार से सभी विभाग इस समय क्रिप्टो की कार्यप्रणाली को जानने और अगर कोई कमी है या कुछ गलत हो रहा है तो इसकी जाँच में लगे हुए हैं। ऐसे में अगर आने वाले समय में कुछ और जाँच ही खबरे आए तो संदेह नहीं होगा। अच्छा तो यही है कि एक्सचेंज सरकार को सहयोग करें। सरकार को भी यह सोचना चाहिए कि क्रिप्टो पर जो भारी भरकम टैक्स लगाए हुए हैं उन्हें कुछ कम करे और क्रिप्टो समुदाय को सहयोग करे।

#cryptonewshindi #cryptonews #coindcx #EPNS

संदर्भ-:
https://youtu.be/IuNPrsjfMK0
https://inc42.com/buzz/ed-summons-coindcx-coinswitch-kuber-founders-to-probe-fema-violations-report/

Visit us – www.cryptonewshindi.com

follow us on Twitter – https://twitter.com/cryptonewshindi?s=08

Follow us on Telegram – https://t.me/CryptoNewsHindi7i

Mail us – cryptonewshindi7@gmail.com