14 मार्च 2021 रविवार

क्रिप्टो की दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल जिस ब्लॉकचेन का आज हो रहा है वह है एथेरियम।एथेरियम ब्लॉकचेन का इस्तेमाल करने के लिए इसके टोकन ईथर से गैस फीस देनी पड़ती है।यह गैस फीस एथेरियम नेटवर्क पर ट्रांजक्शन करने के लिए देनी पड़ती है।एथेरियम ब्लॉकचेन का इस्तेमाल हम सिर्फ ईथर लेनदेन के लिए ही नहीं करते बल्कि स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट बनाते समय,इसे डिप्लॉय करते समय,कोडिंग को टेस्ट करते समय भी ईथर का इस्तेमाल किया जाता है।जैसे जैसे ईथर की कीमत बढ़ रही है और इस ब्लॉकचेन का इस्तेमाल बढ़ रहा है वैसे वैसे दो सबसे बढ़ी समस्याएं देखने को मिल रही हैं।पहली है एथेरियम नेटवर्क का धीमा होना और दूसरा गैस फीस की कीमत का बढ़ना।ईथर को एक अकाउंट से दूसरे पर भेजने पर तो ज्यादा खर्च नहीं है,यह लगभग 4 से 5 डॉलर है लेकिन इसके इलावा ब्लॉकचेन का इस्तेमाल बहुत महंगा हो रहा है।

स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट को डिप्लॉय करने पर करीब एक एथेरियम तक की गैस फीस लग रही है।कुछ कॉन्ट्रैक्ट में एक साथ तीन चार कॉन्ट्रैक्ट को जोड़ना पड़ता है जिस कारण स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट को बनाने में ही दो से तीन ईथर लग रहा है।अभी एक ईथर की कीमत एक लाख 37  हज़ार के करीब है।यहाँ पर एक और समस्या जो सबसे ज्यादा आ रही है वह है स्टेकिंग करने वालो को।जिन निवेशकों ने एथेरियम ब्लॉकचेन का इस्तेमाल करने के बाद किसी प्रोजेक्ट में स्टेकिंग की है वह आज जब अपनी स्टेकिंग को खोलना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें बहुत बढ़ी फीस देनी पड़ रही है जो लगभग 70 डॉलर के करीब है।ऐसे में छोटा निवेशक तो अपना पैसा अभी निकल भी नहीं पा रहा है।अगर एथेरियम की कीमत में लगातार बढ़ोतरी होती गयी तो गैस फीस के लिए और ज्यादा कीमत देनी पड़ेगी।

यही समस्या NFT बनाने वालों को हो रही है।NFT का बाजार इस समय क्रिप्टो क्षेत्र में सबसे ज्यादा गर्म है।NFT के भी अधिकतर प्लेटफार्म एथेरियम नेटवर्क का ही इस्तेमाल कर रहे हैं।यहाँ पर किसी NFT को खरीदना तो महंगा हो ही रहा है लेकिन किसी NFT को मिंट करना भी बहुत ज्यादा महंगा है।एक NFT को मिंट करने में लगभग 50 डॉलर से ज्यादा की फीस लग रही है और यही कारण है की बहुत से लोग इस क्षेत्र में अपनी शुरुआत भी नहीं कर पा रहे हैं।

ईथर की कीमत बढ़ना निवेशकों के लिए अच्छी बात हो सकती है लेकिन यहाँ पर नए निवेशकों के आने की सम्भावना कम हो रही है। यही कारण है की अब बाजार में ईथर की जगह बाकि ब्लॉकचेन की तरफ डेवलपर का ध्यान जा रहा है।पिछले एक साल में बाइनेन्स चेन ने क्रिप्टो बाजार पर अपनी प्रभुसत्ता स्थापित की है।आज हर एक नया प्रोजेक्ट बाइनेन्स चेन का इस्तेमाल करना चाहता है।

स्वैप प्लेटफार्म का भी यही हाल है जहां पर किसी भी टोकन को ईथर से स्वैप करने पर बहुत ज्यादा फीस देनी पड़ रही है।इसका समाधान एथेरियम टू से करने की कोशिश की जा रही है लेकिन इसमें बहुत ज्यादा देर हो रही है।ईथर की कीमत पिछले साल मार्च से अब तक करीब 20 गुणा तक बढ़ी है और वैसे वैसे ही इसकी गैस फीस में भी वृद्धि हुई है लेकिन नेटवर्क धीमा होता जा रहा है।एथेरियम टीम को इस बारे में जल्द ही कुछ करना पड़ेगा,नहीं तो बाकि नेटवर्क एथेरियम का बाजार ख़तम कर देंगे।
#ethereum #ether #wazirxwarriors