4 फरवरी 2022 शुक्रवार (क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी)

1 फरवरी के दिन संसद में बजट पेश किया गया और इसी दौरान सरकार ने क्रिप्टो कमाई पर 30% और लेनदेन पर 1% टीडीएस लगाने का फैसला कर लिया। इस खबर के बाद भारतीय क्रिप्टो समुदाय एकजुट हो गया और इस दौरान दो मुहीम शुरू हुई। पहली मुहीम को शुरू किया भारतीय क्रिप्टो यूट्यूबर आदित्य उर्फ़ ऐड़ी भाई ने जो क्रिप्टो इंडिया चैनल के संस्थापक हैं। इन्होने चेंज डॉट ओआरजी पर एक पेटिशन बनाई जिसका शीर्षक लिखा “भारत सरकार क्रिप्टो पर वाजिब टैक्स योजना लाई जाए”। इस पेटिशन में जो लिखा गया है उसके कुछ खास अंश हम यहाँ बता रहे हैं-:

भारत में क्रिप्टो निवेशकों की संख्या 15 से 20 मिलियन है जिसमें 17 से 27 वर्ष के युवा भी हैं जो क्रिप्टो में डेवलपमेंट के साथ-साथ और कई सेवाओं से जुड़े हैं। भारतीय क्रिप्टो बाजार 5 से 6 बिलियन डॉलर का है जिसमें से ज्यादा संख्या छोटे निवेशकों और होल्डर्स की है। क्रिप्टो क्षेत्र ने रोजगार, विदेशी निवेश, GST राजस्व, और इनकम टैक्स से भारत सरकार को सहयोग दिया है। भारत में हर दिन बड़ी संख्या में क्रिप्टो ट्रेड होता है और इस पर दी जाने वाली फीस से 50 से 100 लाख का GST हर दिन भारत सरकार को जाता है।

भारतीय क्रिप्टो समुदाय सक्रिय रूप से क्रिप्टो रेगुलेशन के लिए मांग कर रहा है और सरकारी तंत्र को हर तरह से सहयोग कर रहा है किसी भी तरह की जाँच पड़ताल में। 2022 के बजट में क्रिप्टो पर वैसा ही टैक्स लगाया गया है जैसा बैटिंग और सट्टे पर लगाया जाता है। यह क्रिप्टो क्षेत्र और सारी अर्थव्यवस्था के ऊपर बुरा प्रभाव डालेगा। इस लिए सारा क्रिप्टो समुदाय निवेदन करता है कि इस क्रिप्टो टैक्स पर फिर से विचार किया जाए। यह समुदाय क्रिप्टो नियम बनाने में सरकार का सहयोग करना चाहता है।

1 क्रिप्टो को बैटिंग या सट्टे कि तरह न देखा जाए।
2 क्रिप्टो पर भी स्टॉक मार्किट कि तरह टैक्स लिए जाए।
3 क्रिप्टो ट्रांजक्शन पर एक प्रतिशत टैक्स को घटा कर 0.005% किया जाए या कोई और समाधान दिया जाए।
4 क्रिप्टो को खरीदने की लगत में एक्सचेंज फीस, ब्लॉकचेन नेटवर्क फीस, पेमेंट इंट्रेस्ट, NFT रॉयल्टी को भी परिभाषित किया जाना चाहिए।
5 क्योंकि क्रिप्टो क्षेत्र अभी अपने शुरुआती दौर में है इस लिए नुक्सान को टैक्स में साथ जोड़ने और एडजेस्ट करने की अनुमति देनी चाहिए।

यह कुछ मुख्य बिंदु हैं इस पेटिशन के। ऐड़ी ने यह पेटिशन 3 फरवरी सुबह 12 बजे के करीब अपने ट्विटर पर पोस्ट की थी।

इस ट्वीट के मात्र 24 घंटे के अन्दर ही इस पेटिशन पर अभी तक करीब 53500 से ज्याद लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं।

 

जिस प्लेटफार्म पर यह पेटिशन डाली गई है उनके अनुसार यह पेटिशन आज तक की उनके प्लेटफार्म पर अभी तक की सबसे सफल पेटिशन है जिस पर इतने कम समय में इतने ज्यादा हस्ताक्षर हुए हैं। 75000 हस्ताक्षर होने के बाद यह पेटिशन इस प्लेटफार्म पर सबसे अधिक सफल पेटिशन होगी। जिस रफ़्तार से इस पेटिशन पर हस्ताक्षर हो रहे हैं उसे देख कर लगता है कि जल्द ही यह पेटिशन एक लाख से ज्यादा हस्ताक्षर ले जाएगी।

इसके साथ ही ट्विटर पर क्रिप्टो टैक्स को कम करने को ले कर एक हैशटैग भी शुरू हुआ #reducecryptotax , यह हैशटैग किसने शुरू किया यह तो नहीं पता लेकिन कल से ही यह हैशटैग ट्विटर पर ट्रैंड कर रहा है। अभी तक इस हैशटैग को ले कर दो लाख से ज्यादा ट्वीट हो चुके हैं और आज भी यह ट्रैंड कर रहा है।

क्रिप्टो क्षेत्र के ऊपर जब भी कोई समस्या आई है तब तब क्रिप्टो समुदाय एक जुट हो कर लड़ा है। इस बारे में हमने भारत के विख्यात क्रिप्टो यूट्यूब चैनल वेबमास्टरमाइंड के संस्थापक से बात की तो उन्होंने कहा कि “क्रिप्टो समुदाय बहुत ही शिक्षित लोगों का समुदाय है। हम लोग तकनीक को समझते हैं और यह जानते हैं कि ब्लॉकचेन भविष्य की तकनीक है और विकेन्द्रियकरित ब्लॉकचेन को क्रिप्टो टोकन या कॉइन के बिना नहीं चलया जा सकता। यह बात सही है कि क्रिप्टो निवेश और ट्रेड में अच्छी कमाई है और देश की प्रगति के लिए हमें टैक्स देना ही चाहिए लेकिन 30% सही नहीं है। हम कोई सट्टे या जुए का व्यापार नहीं करते बल्कि यह बहुत तकनीकी ज्ञान के बाद समझ में आने वाला क्षेत्र है। हम चाहते हैं सरकार क्रिप्टो को रेगुलेट करे और इस पर सही तरह से टैक्स लगाए जैसे बाकि सेवाओं और कमाई पर टैक्स लगता है। सारा क्रिप्टो समुदाय सरकार के साथ है और टैक्स देने के लिए तैयार है। मुझे लगता है हमारी सरकार इस पर विचार कर रही होगी और जल्द ही हमें सही टैक्स प्रणाली देखने को मिलेगी। मैं क्रिप्टो समुदाय का धन्यावाद करता हूँ जो जरुरत पड़ने पर एक जुट होता है और हर संभव मदद करता है। सभी के प्रयास सराहनीय हैं”।

@bitinning के संस्थापक काशिफ रज़ा भी पिछले तीन दिनों से लगातार क्रिप्टो समुदाय को क्रिप्टो टैक्स के विषय में समझा रहे हैं और उन्होंने एक ट्वीट किया जिसमें लिखा था
क्रिप्टो समुदाय केवल उचित टैक्स की मांग कर रहा है, टैक्स को समाप्त करने के लिए नहीं।
हम चाहते हैं कि टैक्स इक्विटी और अन्य वस्तुओं के बराबर लगाया जाए।
क्रिप्टो समुदाय जानता है कि भारत की प्रगति के लिए टैक्स एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अब जब बजट पेश किया जा चूका है तो मंत्रियों के इस विषय में साक्षात्कार भी आने लगे हैं और वित्तीय मंत्री ने इस बारे में zeenews को एक प्रश्न के उत्तर में बताया कि “क्रिप्टो को मुद्रा नहीं कहां जा सकता। मुद्रा वह होती है जो सरकार द्वारा लेनदेन को पूरा करने के लिए जारी की जाती है। क्रिप्टो पर टैक्स सोच समझ कर लगाया गया है, क्योंकि यहाँ पर बड़ी संख्या में लेनदेन हो रहा है और बड़ी कमाई हो रही है तो टैक्स लगाना जरुरी है। इस विषय में सभी पहलुओं पर काम हो रहा है और यह देखा जाएगा कि कहां पर कितन टैक्स लगाना है। इस विषय पर सबसे बात की जाएगी और इसके बाद सारी जानकारी दी जाएगी। क्रिप्टो को कैसे और कितना लीगल किया जाए इस बारे में विशेषज्ञों की राय ली जा रही है।

वित्तीय मंत्री के इस साक्षत्कार को सुन कर ऐसा लगता है कि अभी क्रिप्टो टैक्स के विषय में सरकार का काम अधूरा है और सरकार इस पर अभी और काम कर रही है। हमें अभी इंतजार करना चाहिए ताकि सभी बातें साफ हो सकें। इसके साथ ही क्रिप्टो समुदाय जिस तरह से अपनी असहमति दिखा रहा है टैक्स पर वह जारी रहनी चाहिए ताकि सरकार इस विषय पर सही निर्णय ले। अगर हम चुप बैठ गए तो सरकार इसे हमारी सहमति समझेगी, इस लिए अपने अपने प्लेटफार्म द्वारा सरकार को यह बताना जरुरी है कि क्रिप्टो पर बैटिंग और सट्टे की तरह टैक्स लगाना सही नहीं है। हमें सही टैक्स प्रणाली चाहिए और हम देश की प्रगति के लिए टैक्स देने के लिए तैयार है लेकिन सही टैक्स, 30% नहीं।

Visit us – www.cryptonewshindi.com

follow us on Twitter – https://twitter.com/cryptonewshindi?s=08

Follow us on Telegram – https://t.me/CryptoNewsHindi7i

Mail us – cryptonewshindi7@gmail.com

#reducecryptotax #bitcoin #Budget2022 #wazirxwarriors