29 मई 2020 शुक्रवार

दुनिया के ब्लॉकचेन जगत में आज के समय में मैटिक नेटवर्क हर दिन नई ऊंचाइयों को छू रहा है।मैटिक नेटवर्क ने 15 मई से अपने मेननेट पर काम करना शुरू किया और देखते ही देखते ब्लॉकचेन जगत का बड़े से बड़ा नाम मैटिक के वलिडेटर के तौर पर मैटिक के साथ जुड़ रहा है और इसी में आज एक नाम और जुड़ गया और वह है कंप्यूटर जगत है जानामाना नाम इंफोसिस(Infosys)मैटिक नेटवर्क ने यह जानकारी अपने ट्वीट द्वारा दी और कहा “न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट 40 बिलियन डॉलर की भारतीय टेक्नोलॉजी आइकॉन इंफोसिस ने मैटिक नेटवर्क को शुरुआती वलिडेटर के तौर पर ज्वाइन किया है। इंफोसिस कंसल्टिंग को गहराई से जानकारी है सुरक्षा,उच्च परफॉर्मेंस इंफ्रास्ट्रक्चर की जो ग्लोबल डैप इको सिस्टम के लिए जरुरी है जैसे की मैटिक

मैटिक टीम ने जब मैटिक नेटवर्क की शुरुआत की थी तो शायद ही किसी ने सोचा होगा की भारतीय ब्लॉकचेन में कोई यह काम भी कर सकता है जो मैटिक ने कर दिखाया।एक ऐसा सिस्टम जिस की क्रिप्टो और ब्लॉकचेन को बहुत जरुरत थी।इस मौके पर क्रिप्टो कानून के काशिफ राज़ा ने मैटिक के सह संस्थापक और सीओओ संदीप से बात करते हुए पूछा की ‘कितना मुश्किल था इनफ़ोसिस जैसे ब्रांड को आकर्षित करना या समझाना मैटिक नेटवर्क के बारे में’? इसके जवाब में संदीप ने कहा “की जो इनफ़ोसिस के सदस्य है वह ब्लॉकचेन की गहराई से जानकारी रखते हैं और वह जानते हैं की जो निज़ी ब्लॉकचेन का सिस्टम है यह ज्यादा देर तक नहीं चलने वाला है और अंत में ब्लॉकचेन, विकेंद्रियकृत,और यह सब पब्लिक ब्लॉकचेन पर आने वाला है।इनफ़ोसिस टीम बहुत एक्टिव है ब्लॉकचेन रिसर्च में,इसी बारे में हमारा उनसे मिलना हुआ जहां हमने उन्हें अपने प्रोजेक्ट के बारे में बताया और लेयर टू के बारे में बताया,आने वाले समय में साइडचेन के भी कई इस्तेमाल हो सकते हैं,भविष्य में प्राइवेसी चेन आ सकती है,इंटरप्राइज चेन आ सकती हैं यह बात उन लोगों को बहुत अच्छी लगी।क्योंकि वह सब इस बारे में जानते थे और मैटिक का दुनिया में बहुत नाम भी है तो इनफ़ोसिस को साथ लाने के लिए कोई खास मेहनत नहीं करनी पड़ी।”

मैटिक और इनफ़ोसिस की इस पार्टनरशिप से व्यापार जगत को तो फायदा होगा ही साथ ही भारत में भारतीयों लोगों द्वारा ब्लॉकचेन और क्रिप्टो के क्षेत्र में इतने आगे बढ़ जाना कही न कही भारत सरकार को भी प्रभावित करेगा यह सोचने के लिए की ब्लॉकचेन और क्रिप्टो देश की व्यापार और अर्थव्यवस्था में बहुत बदलाव ला सकता है।इस से भारत में क्रिप्टो और ब्लॉकचेन को क़ानूनी मान्यता मिलने में भी सहायता मिलेगी।
शायद की कोई भारतीय ब्लॉकचेन या क्रिप्टो ब्रांड मैटिक की तरह काम कर रहा होगा।मैटिक टीम दिन रात मेहनत कर रही है अपने प्रोजेक्ट को दुनिया का सबसे बेहतर प्रोजेक्ट बनाने के लिए और वह सफल भी हो रहे हैं।

क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी टीम को मैटिक की इस उपलब्धि पर बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाए।