25 दिसंबर 2020 शुक्रवार

बिटकॉइन को कानूनी दर्जा न देने के लिए सरकार और वह लोग जो बिटकॉइन की तकनीक के बारे में नहीं जानते,वह अक्सर यह कहते हैं की बिटकॉइन का इस्तेमाल आतंकवाद को फंडिंग करने और देश से पैसा बहार भेजने के लिए किया जाता है।इन दोनों ही बातों में कुछ भी सच्चाई नहीं हैं।बिटकॉइन 2009 में बाजार में आया था और शुरू के कुछ सालों तक न तो बिटकॉइन के बारे में ज्यादा लोगों को पता था और न ही इसका इस्तेमाल ही होता था।अगर हम बड़ी आतंकी घटनाओं को देखें जैसे वर्ल्ड ट्रेड सेंटर,मुंबई हमला या कुछ और बड़े आतंकी हमले,तो यह सब बिटकॉइन के आने से पहले के हैं।इस बारे में गहराई से जानकारी इकठ्ठा करने के लिए हमने इंटरनेट पर बहुत ज्यादा जाँच पड़ताल की और हम यहाँ दो लिंक दे रहे हैं

1. https://en.wikipedia.org/wiki/List_of_terrorist_incidents_in_India
2. https://en.wikipedia.org/wiki/List_of_major_terrorist_incidents

इन दोनों लिंक पर जा कर आप विश्व के साथ साथ भारत में हुए मुख्य आतंकी हमलों की जानकारी देख सकते हैं।इनमें से किसी भी आतंकी हमले में बिटकॉइन से फंडिंग की जानकारी नहीं मिली है।ऐसा नहीं है की बिटकॉइन या क्रिप्टो का इस्तेमाल गैरकानूनी कामों के लिए नहीं होता लेकिन बिटकॉइन सिर्फ गलत कामों के लिए इस्तेमाल होता है यह सही नहीं है।

बैंको के साथ होने वाले बड़े घपले किसी भी तरह से बिटकॉइन को दोष नहीं दे सकते।बिटकॉइन पर जो दूसरा सबसे बड़ा इलज़ाम लगता है वह है मनी लॉन्ड्रिंग का।अगर बिटकॉइन से मनी लॉन्ड्रिंग की बात करें या फिरौती की बात करें तो हम देख सकते हैं की यह आंकड़े थोड़े चिंताजनक है।लेकिन अगर हम मनी लॉन्ड्रिंग के आंकड़े भी देखें तो देश की मुद्राओं से यह काम बड़े पैमाने पर होता रहा है और हो भी रहा है।सोने की तस्करी भी बड़े स्तर पर सारे विश्व में हो रही है और यह बिटकॉइन की कुल कीमत से कही ज्यादा है।अगर हम क्रिप्टो और बिटकॉइन के लेनदेन की बात करें तो इसमें से ज्यादातर क्रिप्टो एक्सचेंज के द्वारा होता है।सभी क्रिप्टो एक्सचेंज KYC के बाद ही अपनी  सेवाएं देती है और इस से बड़े पैमाने पर क्रिप्टो के गलत उपयोग को रोका गया है।

अगर यह दो कारण है बिटकॉइन या क्रिप्टो को कानूनी दर्ज़ा न देने के तो यह सही नहीं है।अगर आतंकवाद और मनी लॉन्ड्रिंग के लिए सिर्फ बिटकॉइन का ही इस्तेमाल हो रहा होता तो हम विषय को गंभीता से ले सकते थे।बिटकॉइन के लेनदेन पर नज़र रखना किसी भी सरकारी संस्था के लिए बहुत मुश्किल है।अगर सरकार बिटकॉइन और क्रिप्टो को खरीदने और बेचने के अनुमति दे दे तो लोग अपनी इच्छा से सरकार को इसकी जानकारी देंगे,साथ ही सरकार को इस से राजस्व भी मिल सकता है।

#bitcoin #wazirxwarriors #cryptonewshindi