01-06-2021 मंगलवार (नई दिल्ली )

एक बार फिर क्रिप्टो समुदाय की जीत हुई और रिज़र्व बैंक ने सभी बैंक और वित्य सेवा देने वाले संस्थानों को अपनी सेवाएं देने के लिए अपना रुख साफ किया।पिछले कुछ समय से क्रिप्टो लेनदेन के लिए क्रिप्टो एक्सचेंजस और क्रिप्टो समुदाय को बहुत समस्या आ रही थी।इसका कारण था बैंक द्वारा अपनी सेवाएं क्रिप्टो के लिए न देना।पिछले एक महीने से यह समस्या और ज्यादा हो रही थी और यही कारण था कि क्रिप्टो एक्सचेंज को बहुत ज्यादा समस्या आ रही थी।करीब महीने पहले क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी ने एक अभियान ट्विटर पर शुरू किया था #बैंक_जवाब_दें और लगातार रिज़र्व बैंक और बाकि बैंक्स से यह निवेदन किया कि क्रिप्टो को बैंक कि सुविधाएं दी जाए।

रिज़र्व बैंक ने इस बारे में 31 मई 2021  को एक अधिसूचना जारी की और इस बारे में स्थिति को साफ़ किया।इस अधिसूचना में रिज़र्व बैंक ने कहा की “कुछ मीडिया प्लेटफार्म से हमें यह पता चला है कि कुछ बैंक और वित्य सेवा देने वाले संस्थान क्रिप्टो को अपनी सेवाएं नहीं दें रहे हैं और इसका कारण बताते हुए वह रिज़र्व बैंक का 06 अप्रैल 2018 का वह सर्कुलर दिखा रहे हैं जिसे सर्वोच्च न्यायालय ने 04 मार्च 2020 को खारिज कर दिए था।इस लिए पुराने सर्कुलर का अब कोई अस्तित्व नहीं है”।

यहाँ पर सबसे बड़ी बात है कि रिज़र्व बैंक ने यह कहा कि “मीडिया द्वारा उन्हें यह पता चला है” ! यह मीडिया हमारा टीवी मीडिया या समाचार पत्र नहीं है बल्कि यह मीडिया सोशल मीडिया पर सक्रिय वह मीडिया है जो क्रिप्टो समुदाय द्वारा चलाया जा रहा है।वज़ीरएक्स के संस्थापक निश्चल लगातार अपने अभियान #IndiaWantsCrypto से इस विषय पर अपनी आवाज़ उठाते रहे हैं।क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी ने भी इस बारे में बहुत कोशिश कि और इसके साथ ही क्रिप्टो समुदाय ने भी हम सबका बहुत साथ दिया।यही कारण था कि रिज़र्व बैंक तक हमारी बात पहुंची।

रिज़र्व बैंक ने अपने सर्कुलर में आगे यह कहा है बैंक और वित्य संस्थान KYC ,एंटी मनी लॉन्ड्रिंग व फेमा जैसे कानूनों में अपनी कार्यप्रणाली को पहले की तरह जारी रख सकती है।यहाँ पर क्रिप्टो समुदाय को यह समझना होगा की जो भी निवेश क्रिप्टो में किया जाए वह सही तरीके से हो और क्रिप्टो से जो भी मुनाफा हो उस पर सही तरह से टैक्स भी दिया जाए।क्रिप्टो समुदाय को किसी भी तरह से कोई ऐसा काम नहीं करना है जो कानून की सीमाओं से बहार हो।फ़िलहाल क्रिप्टो खरीदने और बेचने के लिए हम बैंक एकाउंट का इस्तेमाल कर सकते हैं और यह सेवा देने से कोई भी बैंक मन नहीं कर सकता।

रिज़र्व बैंक का यह सर्कुलर आप क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी के टेलीग्राम से ले सकते हैं।
#wazirxwarriors #INDIAWANTSCRYPTO #RBI #bitcoin #cryptonewshindi #cryptonews