04 जुलाई 2022  (क्रिप्टो न्यूज़ हिंदी)

जब भी क्रिप्टो बाजार ज्यादा नीचे जाता है तो कई प्रोजेक्ट्स को सही समय मिल जाता है अपना काम बंद करने का और इस बात से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता कि इस से निवेशकों का कितना नुक्सान होगा? इसका सबसे ताज़ा उदहारण है Vauld। किसी समय में अपने प्लेटफार्म को सबसे अलग और सबसे बेहतर प्लेटफार्म बताने वाले Vauld ने आज एक पोस्ट में जो लिखा , उसे पढ़ कर निवेशकों की रात की नींद उड़ गई है। Vauld ने एक ब्लॉग और एक ट्वीट के माध्यम से अपने प्लेटफार्म के बारे में मौजूदा समय में अपनी मजबूरियां बताते हुए डिपोज़िट और विड्राल को बंद करने का फैसला किया है। Valud ने लिखा है कि “Vauld मैनेजमेंट हम अपने सभी बेहतर प्रयासों के बाद भी आर्थिक कठनाइयों का सामना कर रहे हैं”। Vauld ने इसके पीछे जो कारण बताएं है वह कुछ इस प्रकार हैं – सबसे पहले मौजूदा क्रिप्टो बाजार की गिरावट को इसका कारण बताया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को यह अच्छी तरह से पता है कि क्रिप्टो बाजार में बड़े उतार चढ़ाव होते रहते हैं, और यह कोई पहली बार नहीं हुआ है कि क्रिप्टो बज़र में गिरावट आयी हो। दूसरा कारण लूना स्कैम और बड़ी मात्रा में निवेशको का अपना फण्ड इस प्रोजेक्ट से बहार निकालना है। लूना ने Vauld को क्या नुकसान पहुंचाया यह बात समझ नहीं आ रही? निवेशक जब चाहें अपने निवेश को किसी भी एक्सचेंज से बहार निकाले इस से किसी प्रोजेक्ट को क्या आर्थिक संकट आ सकता है ? एक बात जरूर है कि जिन लोगों ने अपनी क्रिप्टो पर एक्सचेंजस से लॉन लिया है वह बडी आर्थिक समस्या पैदा कर सकते हैं क्योंकि क्रिप्टो की कीमत बहुत नीचे हैं। Vauld को कई भारतीय यूट्यूब चैनल ने बडे पैमाने पर प्रोमोट किया था और इसी कारण यहां पर भारतीय निवेशकों का बहुत ज्यादा निवेश लगा हुआ है।

Vauld का कहना है कि 12 जून 2022 तक निवेशकों ने 197 मिलियन डॉलर का फण्ड निकाला है। अगर निवेशकों ने अपना फण्ड निकाला है तो समस्या क्या है, यह फण्ड निवेशकों का ही था, इस से एक्सचेंज को क्या समस्या है ? Vauld  का कहना है कि वह अपने स्टेक होल्डर्स के हित्तों को ध्यान में रखते हुए अपनी लीगल टीम से सम्पर्क में हैं, और उनकी सलाह पर बेहतर करने की कोशिश कर रहे हैं।

Vauld अपने प्रोजेक्ट में किए गए निवेशकों से सम्पर्क और विमर्श कर रही है। प्रोजेक्ट सिंगापुर अदालत में आवेदन करने के बारे में सोच रही है ताकि सम्बंधित कंपनियों द्वारा की जाने वाली कार्रवाही से कुछ समय मिल सके सब कुछ व्यवस्थित करने के लिए। ऐसा लगता है की इस प्रोजेक्ट से साथ सब सही नहीं चल रहा है और कुछ ऐसा है जो आम निवेशकों नहीं पता।

vauld ने अपने ट्वीट और आर्टिकल में लिखा है कि वह कठिन निर्णय लेते हुए सभी तरह के डिपाजिट और विड्राल को बंद कर रहे हैं। इसके साथ ही ट्रेड को भी बंद किया जा रहा है। इस से साफ कि एक्सचेंज फिलहाल तो अपने अभी काम बंद कर रही है। सिर्फ कोलेट्रल लोन लेने वाले अपने मार्जन कॉल के लिए डिपोज़िट कर सकते हैं विशेष परिस्तिथियों में।

अब यहां पर vauld यह कहे कि वह निवेशकों के दर्द को समझता है तो यह सही नहीं होगा। इस समय क्रिप्टो बाजार बहुत नीचे है और यह समय निवेश के लिए सही है। ऐसे में अगर बाजार और गिरता है और निवेशक अपनी क्रिप्टो को स्टेबल कॉइन में बदल कर अपने नुकसान को कम करना चाहे तो वह कर नहीं पाएगा। नीचे की कीमत पर क्रिप्टो खरीदना भी अब इस प्लेटफार्म पर संभव नहीं होगा। यानि निवेशको का हर तरफ से नुक्सान ही है। जब भी क्रिप्टो बाजार में कोई बड़ी हलचल होती है तो कुछ क्रिप्टो प्रोजेक्ट्स के लिए यह सही समय होता है, सब कुछ बंद कर के बहार निकलने का। हम उम्मीद तो यही करते हैं कि vauld jald ही सब सही कर लें और निवेशकों को ज्यादा नुक्सान न हो।

#cryptonewshindi #Vauld #bitcoinnews #EPNS

Visit us – www.cryptonewshindi.com

follow us on Twitter – https://twitter.com/cryptonewshindi?s=08

Follow us on Telegram – https://t.me/CryptoNewsHindi7i

Mail us – cryptonewshindi7@gmail.com